कृपया भ्रमित न हों और इसे Internet and terrorism से भिन्न समझें।

साइबरआतंकवाद एक वाक्यांश है जिसका उपयोग आतंकवादी गतिविधियों में इंटरनेट आधारित हमलों का वर्णन करने के लिए किया जाता है, जिसमें शामिल है कंप्यूटर वायरस जैसे साधनों के माध्यम से कंप्यूटर नेटवर्क मे जानबूझकर, बड़े पैमाने पर किया गया व्यवधान,विशेष रूप से इंटरनेट से जुड़े निजी कंप्यूटर में.

साइबरआतंकवाद एक विवादास्पद शब्द है। कुछ लेखक बहुत ही संकीर्ण परिभाषा का प्रयोग करते हैं और इसे ज्ञात आतंकवादी संगठनों द्वारा चेतावनी और आतंक पैदा करने के प्राथमिक उद्देश्य से सूचना प्रणालियों के खिलाफ व्यवधान हमले से जोड़ते हैं। इस संकीर्ण परिभाषा के आधार पर, साइबरआतंकवाद से किसी उदाहरण की पहचान करना मुश्किल है |

DCH Hospital System pays Russian hackers in ransomware attack
गजबज्ञान.कॉम की तरफ से निर्देश ; – कृपया किसी भी वेबसाइट को खोलने से पहले उसकी सिक्यूरिटी जांच ले |

Cyber Attacks से बचाव के लिए Useful tips| कैसे करें साइबर सुरक्षा (How to be safe from Cyber Attacks) : 

भारत, इन्टरनेट यूज़र्स के मामले में दूसरा सबसे बड़ा देश है, और इस समय lockdown के चलते ज्यादा से ज्यादा लोग internet पर एक्टिव हो रहे हैं. ऐसे में बड़ा इंटरनेट यूज़र बेस (internet user base) होने के कारण भार इसका आसान शिकार बन सकता है. आइए जानें कुछ Basic Tips , जिन्हें आपको अपनी ऑनलाइन Security के लिए पता होना चाहिए…

  • किसी भी website के लिंक पर यूहीं क्लिक न करें और पहले, सुनिश्चित करें कि वेबसाइट authentic है. मैसेज में या URL में किसी भी तरह की स्पेलिंग की गलतियों को ज़रूर देख लें.
  • Forums या Websites अपनी Personal  जानकारी जैसे e-mail id, पासवर्ड, क्रेडिट कार्ड की डिटेल आदि share न करें.
  • ज़रूर देख लें कि आपका Password इतना अभी आसान न हो कि कोई भी उसका आसानी से अंदाज़ा लगा ले. अपने अकाउंट के लिए अपने DOB, Name, या 12345 जैसे common password का use करने से बचें. 
  • अपने पासवर्ड को Combinations के साथ create करें, जिसमें letters, digits, special characters ज़रूर शामिल हों. 
  • किसी अच्छे Anti-वायरस सॉफ्टेवेयर का इस्तेमाल करके अपने सिस्टम को Scan करते रहें.
  • ओपन Wi-Fi के इस्तेमाल से बचें. ये नेटवर्क सुरक्षित नहीं होते हैं और हैकर्स आसानी से आपके डेटा तक पहुंच प्राप्त करने के लिए एक मैलिशियस कोड इंजेक्ट कर सकते हैं.
  • एक वर्चुअल प्राइवेट नेटवर्क (VPN) का इस्तेमाल करें जो आपके और वेबसाइट के बीच एक सुरक्षित टनल बनाता है.
  • स्पैम मैसेज और ईमेल को न खोलें और न ही जवाब दें|

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here